April 8, 2017

16 हजार करोड़ के घाटे में देश के शीर्ष इंटरनेट स्टार्टअप्स

सचिन श्रीवास्तव
भारतीय स्टार्ट अप बाजार के हालिया अध्ययन निवेशकों और स्टार्ट अप्स बाजार के बारे में आशावान लोगों के लिए भी चिंता की वजह बन सकते हैं। खासकर इंटरनेट उपभोक्ता से संबंधित स्टार्टअप्स का बाजार फायदे का सौदा नहीं है। आय और घाटे के लिहाज से फ्लिपकार्ट अव्वल है। एक दिलचस्प तथ्य यह भी है कि शीर्ष स्टार्टअप्स में से महज एक ही फायदे में है, बाकी सभी को घाटा उठाना पड़ा है।
41 शीर्ष इंटरनेट उपभोक्ता स्टार्ट अप्स और कंपनी का अध्ययन
2016 में जारी किए गए कंपनियों के आंकड़ों के निष्कर्ष


फ्लिपकार्ट का है दबदबा

भारतीय इंटरनेट स्टार्टअप्स में फ्लिपकार्ट के रेवेन्यू की हिस्सेदारी 75 प्रतिशत है, जबकि कुल घाटे में इसका हिस्सा 46 प्रतिशत है। 2015 के मध्य में फ्लिपकार्ट में हुए आखिरी निवेश के वक्त कंपनी की कुल बाजार पूंजी करीब 1000 अरब रुपए आंकी
गई थी। यह शीर्ष 41 कंपनियों की कुल पूंजी का 40 प्रतिशत है। 

शीर्ष में नहीं है कोई नई कंपनी
इंटरनेट उपभोक्ता कंपनियों में अव्वल स्टार्टअप्स में कोई भी ऐसी कंपनी नहीं है, जो अपने शुरुआती दौर में हो। सभी कंपनियां कम से कम दो बार निवेश आकर्षित कर चुकी हैं। आधी से ज्यादा कंपनियों में तो कई बार निवेश हो चुका है।

फंडिंग हुई है कम
बीते 15 महीनों में इंटरनेट आधारित स्टार्टअप्स में फंडिग कम हुई है। रेवेन्यू के आधार पर इन कंपनियों का कुल पूंजी बाजार करीब 11 गुना ज्यादा है। यह पुराने स्टार्टअप्स के लिहाज से ज्यादा कहा जाएगा।

घाटे ने चौंकाया
सभी कंपनियों को कुल मिलाकर 16 हजार करोड़ रुपए का घाटा हुआ है, जबकि इनकी कुल आय 24 हजार करोड़ रही है। यह आंकड़े चौंकाते हैं। केवल एक स्टार्टअप बिगट्री इंटरटेनमेंट को इस दौरान फायदा हुआ है। यह कंपनी टिकट बिक्री साइट बुकमाईशो चलाती है।

फ्लिपकार्ट को हटाएं तो हालात और खराब
अगर स्टार्टअप्स की लिस्ट से फ्लिपकार्ट को भी हटा दें, तो हालात और खराब दिखाई देंगे। इसका अर्थ यह नहीं है कि फ्लिपकार्ट का प्रदर्शन कोई खास अच्छा रहा है। फ्लिपकार्ट की सहयोगी मिंत्रा को करीब 5770 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है, जबकि इसकी आय 18 हजार करोड़ के करीब है।

15 ईकॉमर्स कंपनियों का प्रदर्शन
21274 करोड़ रुपए की कुल आय
12505 करोड़ रुपए का कुल घाटा

कंपनी                     आय                             घाटा   
फ्लिपकार्ट               17930 करोड़                 5769करोड़
स्नैपडील                  1457करोड़                   3316करोड़
पेटीएम                    869करोड़                     1534करोड़
शॉपक्लूज                179करोड़                     383करोड़
क्विकर                    95करोड़                       534करोड़
जिवामी                   65करोड़                       54करोड़
ब्रेनबीज                   174करोड़                     123करोड़
ब्लूस्टोन                 103करोड़                       71करोड़
लेंसकार्ट                  99करोड़                        113 करोड़
लिमेरोड                  43 करोड़                        106 करोड़
वूनिक                  17.8 करोड़                       85 करोड़
लिवस्पेस              9.1 करोड़                        9.8 करोड़
अर्बनलेडर              56 करोड़                       181 करोड़
पेपरफ्राई                 98 करोड़                         155 करोड़
हेल्थकार्ट                 79 करोड़                        72 करोड़

04 लोकल सर्विस देने वाली कंपनियों का प्रदर्शन
789.09 करोड़ रुपए की कुल आय
967.8 करोड़ रुपए का कुल घाटा

कंपनी                आय                  घाटा   
जोमाटो           185 करोड़    492 करोड़
स्विगी            23.5 करोड़    137 करोड़
ग्रूफर्स             0.59 करोड़    60.8 करोड़
बिगबास्केट    580 करोड़    278 करोड़

03 सेवा क्षेत्र की कंपनियों का प्रदर्शन
357.8 करोड़ रुपए की कुल आय
225.3 करोड़ रुपए का कुल घाटा

कंपनी                आय              घाटाबुकमाईशो        248 करोड़    3.1 करोड़ का मुनाफा
अर्बनक्लैप        2.8 करोड़    58.9 करोड़
हाउसजॉय        17 करोड़       68.5 करोड़
जूमकार        90 करोड़       101 करोड़

03 ऑटो क्षेत्र की कंपनियों का प्रदर्शन
145.6 करोड़ रुपए की कुल आय
305.7 करोड़ रुपए का कुल घाटा

कंपनी        आय        घाटाकार ट्रेड        46 करोड़        305.7 करोड़
कार देखो        82.4 करोड़    143.8 करोड़
ड्रूम        17.2 करोड़    14.2 करोड़

15 अन्य कंपनियों का हाल
1198.85 करोड़ रुपए की कुल आय
1997.1 करोड़ रुपए का कुल घाटा

कंपनी        आय        घाटा
प्रेक्टो        165 करोड़    65 करोड़
पोर्टी        42.45करोड़    123 करोड़   
1एमजी        3.4 करोड़    30 करोड़
पॉलिसी बाजार    109 करोड़    110 करोड़
बैंक बाजार        71 करोड़        108 करोड़
कवर फॉक्स    1.9 करोड़        3.5 करोड़
99एकड़        110 करोड़    98 करोड़
नेस्टअवे        5.7 करोड़    37.2 करोड़
नोब्रोकर        1.1 करोड़        1.4 करोड़
प्रोपटाइगर        8.4 करोड़    13.9 करोड़
आईबीबो        365 करोड़    749 करोड़
क्लियरट्रिप        264 करोड़    65 करोड़
ट्रीबो        2.3 करोड़    25.1 करोड़
ओयो       14 करोड़        351 करोड़
हाईक        35 करोड़        217 करोड़       

0 comments: